Saturday, September 3, 2016

जैसा तुमको दीखता हूँ क्या मैं सचमुच वैसा हूँ

No comments:

Post a Comment